face
घर \ حلقات تليفزيونية \ क्या मनुष्य को धर्म की आवश्यकता है? \ धर्म ही जीवन है (आरनाल्ड व्टेन बी)

धर्म ही जीवन है

" मनुष्य के लिए धर्म एक प्राकृतिक आवश्यक मानव वैधता है। और हमारे लिए ये बताना पर्याप्त होगा कि मानव को धर्म की आवश्यकता आध्यात्मिक निराशा कि ओर ले जाता है। जिसके कारण मनुष्य ऐसी जगह धार्मिक सुकून प्राप्त करने का प्रयास करता है। जहाँ से उसे कुछ भी प्राप्त नही होता। "

आरनाल्ड व्टेन बी

ब्रिटिश इतिहासकार

आरनाल्ड व्टेन बी

वेबसैट लिंक

फोरम लिंक